• खता पर ग़ज़ल, पी एल बामनिया

    गुजरे जो पल

    गुजरे जो पल उन्हें सदा देते। प्यार के शोलो को हवा देते। क्या खता हो गई बताते गर, खुद को [...] More
  • उदासी पर ग़ज़ल, पी एल बामनिया

    आज दामन उदासी से

    आज दामन उदासी से भर गया, इक गम काम अपना कर गया। अपने बिस्तर पर सोते सोते ही, मैं, सपने [...] More